‘प्रेम’ शिकायत करता नहीं

बाँटने का लाभ क्या है? बाँटने का लाभ ये है कि जो बाँटता है उसको और मिलता है, कि वो और बाँटे ।

अस्तित्व कहता है, तुम पाँव फैलाओ, चादर बढ़ जाएगी ।

तुम बाँटते जाओ, तुम्हें मिलता जायेगा ।

‘तथ्य’ जानना है तो विज्ञान की ओर जाओ, वो बता देगा । ‘सत्य’ जानना है तो संत के पास जाओ ।

अगर मुश्क़िल, मुश्क़िल लग रही है, तो इसका अर्थ यही है कि ‘प्रेम’ की कमी है क्योंकि प्रेम जब होता है तब मुश्क़िल मुश्क़िल लगती नहीं ।

‘प्रेम’ शिकायत करता नहीं ।

प्रेम होगा तो झोपड़ी महल जैसी लगेगी ।



पूर्ण लेख पढ़ें : यीशु मसीह पर – प्रेम पाओ, प्रेम बाँटो


 

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s