लेख और संवाद – 2012

कॉलेज और विश्व विद्यालयों में बोले गए संवाद :

क्रमांक शीर्षक स्थल दिनांक
1 स्वाभिमान में ‘स्व’ कहाँ?(Is your Self-esteem yours?) IIT Feb 12
2 अवसर अभी है (Right Now is the Real opportunity) IIT Feb 12
3 अभ्यास नहीं, ध्यान (Inattentiveness needs and breeds repitition) IIT Feb 12
4 सपने नहीं, समझ (Don’t dream, just act in attention) KEC Mar 12
5 यह तो प्रार्थना नहीं (Your prayers cannot be answered) KEC Apr 12
6 हमारे काल्पनिक लक्ष्य (The falseness of targets) CGI Apr 12
7 जीवन रूखा-सूखा (Why is life so boring?) CGI Apr 12
8 Acharya Prashant: बस बेहोश बहाव (I am not. Am I?) NIET Apr 12
9 मैं मन का गुलाम क्यों? (Why am I such a slave of the mind?) AIT Nov 12
10  मन के बहुतक रंग हैं (This flickering mind) LNCT Oct 12
11 दूसरों को प्रभावित कैसे करूँ (How to impress others?) LNCT Dec 12
12 इस शोषक समाज से मुक्ति कैसे पाएँ? (How to get rid of this oppressive society?) CGI Apr 12
13 मैं आदर्श कैसे बनूँ? (How can I become a perfect person?) CGI Apr 12
14 होश ही धर्म है (Religion is just awareness) AIT Nov 12
15 इच्छाओं को नियंत्रित कैसे करूँ?(How to control desires?) LNCT Dec 12
16 निम्न विचार और उच्च विचार क्या? (High thoughts, low thoughts) LNCT Oct 12
17 प्रैक्टिकल या थ्योरिटिकल?( Relation between theory and practice) CGI Apr 12
18 स्वीकृत या सम्यक?(Must I be correct,or right?) MIT Aug 12
19 आचार्य प्रशांत: जो समय में है वो समय बर्बाद कर रहा है KEC Mar 12
20 आचार्य प्रशांत: अपनी निजता क्यों खो देते हो? KEC Oct 12
21 आचार्य प्रशांत: समझ गये तो मज़ा है, नासमझी एक सज़ा है NIET Sep 12
22 आचार्य प्रशांत: होश में आओ! यही एकमात्र धर्म है AIT Nov 12
23 आचार्य प्रशांत: जो बचपन से देखा सुना, उससे अचानक कैसे हटें? AIT Nov 12
Advertisements